परी जिन्नात अप्सरा को सामने देखना ||परी जिन्नात अप्सरा साधना

परी जिन्नात अप्सरा को सामने देखना परी जिन्नात अप्सरा साधना

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सब आशा करता हूं भगवान महाकाल की कृपा से आप सब सुखी और संपन्न होंगे मैं आप सबके बीच फिर एक बार हाजिर हूं मैं महेश भाई तांत्रिक गुरु जी आप सभी की सेवा में एक नई जानकारी के साथ एक बार फिर से एक नई और पावरफुल मुस्लिम दुआ लेकर हाजिर हूं आप लोग अपने जीवन में इसको आजमाएं और लाभ ले हर एक इंसान अपनी लाइफ में पैसा पावर और कामयाबी यह हर एक व्यक्ति चाहता है हम ऐसे ही जीवन से जुड़ी तमाम परेशानियों के हल के लिए आप लोगों का समय-समय पर मार्गदर्शन करता रहता हूं ताकि आप अपनी लाइफ को खुशहाल और प्रसन्नता पूर्वक जी सके बस हमें आप अपनी दुआओं में याद रखें आज हम बात करेंगे कौन सी ऐसी दुआ कौन सा ऐसा मंत्र कौन सा अजी मत कौन सी ऐसी साधना जीवन में प्रयोग करें ताकि हमें पैसा पावर और कामयाबी हमेशा मिलती रहे जहां तक मैं समझता हूं जिन्नात से परियों से आत्माओं से कौन नहीं मिलना चाहता उनसे अपने छोटे छोटे काम करवाना हर एक व्यक्ति चाहता है अगर यह चीज उसके पास आ गई तो घर बैठे एक राजसी ठाठ बाट के साथ अपना और लोगों का भी दुख दूर कर सकता है इसी कारण लोग परियों और जिन्नातों से दोस्ती करना चाहते हैं सब चाहते हैं की खूबसूरत परी से उनकी दोस्ती हो और उनके हर काम को वह फो कर दिया करें अगर आप सब में से किसी की यह इच्छा हो कि वह परियों से या जिन्नात से दोस्ती करना चाहता है तो आज हम इसी टॉपिक पर बात करेंगे अगर आपकी भी यही इच्छा है कि आप परियों से दोस्ती करें और अपनी खुली आंखों से उनका दीदार कर सकें तो आजकल लेख आपके लिए है।

🖐परी या जिन्नात देखने का अमल🖐️

अगर आप परी या जिन्नात को देखना चाहते हैं उनसे अपने छोटे-मोटे काम करवाना चाहते हैं तो बताए गए तरीके से आप साधना करें थोड़ा मुश्किल जरूर है लेकिन नामुमकिन नहीं है और मैं आपको यकीन दिलाता हूं विश्वास दिलाता हूं की हंड्रेड परसेंट वर्किंग साधना है जो लोग कभी सफल नहीं हुए हैं वह इस साधना में सफल हो सकते हैं कुरान का एक मंत्र है इश्मे आजम बस यह दो शब्द का मंत्र है जो बड़ा ही पावरफुल है या बुदूदू या सुब्बुहूं इस आजम को अच्छे से याद कर लेना है सही उच्चारण के साथ ya vadudu ya subuhu जहां तक हमें लगता है आपको याद करने में 5 मिनट का काम है अगर आप का सही उच्चारण नहीं हो रहा है तो आप 1 घंटे तक इसको रिपीट करते रहें ताकि अच्छे से आप इसका उच्चारण कर सकें आजकल एक बहुत ही यूनिक लेख है इस दो नाम के वीडियो आपको बहुत मिल जाएंगे लेकिन तमाम यूट्यूब पर ने इसको सही तरीके से आपके सामने पेश नहीं किया आज इसका सही तरीका आप लोगों के सामने आप लोगों के कहने पर दे रहा हूं लोगों ने इसका जो जकात है उसको अदा करने का तरीका नहीं बताया यानी सिद्ध कैसे किया जाएगा इस पर उन्होंने कोई जानकारी नहीं दी उन्होंने डायरेक्ट इसके इस्तेमाल का तरीका बता दिया जो कभी काम नहीं कर सकता |आज हम आपको इसकी जकात अदा करने का और काम लेने का दोनों तरीके बताऊंगा

परी या जिन्नात देखने सिद्ध करने का तरीका

इस मंत्र को अच्छे से याद करने के बाद 3/5/7/या अधिकतम 100 दिन में इसे सिद्ध कर सकते हैं इस की तादाद होगी 125000 की संख्या में पढ़कर सिद्ध कर लेना अगर आप लोग मेरा ख्याल माने तो इस को 41 दिन में सिद्ध कर ले आप काउंटिंग कर ले कि प्रतिदिन का कितनी संख्या में जाप करें कि 41 दिन में 125000 पूरे हो जाए उतनी ही संख्या आपको रोज जपना है माला करनी है स्थान एक ही होगा टाइम एक ही होगा इसके साथ ही आपको तीन काम रोज करने हैं पहला तो आप नियत करें कि आप परी को भुलाना चाह रहे हैं या जिन्नात को देखना चाह रहे जिसकी भी नियत करें उनको हर रोज कोई भोग तो सा आपको प्रतिदिन देना होगा अगर आप 40 दिन में सिद्ध करते हैं तो 3125 बार रोज आपको पढ़ना होगा तो सा भोग आप रोज कोई बढ़िया सा चित्र दे सकते हैं या कोई अच्छी मिठाई का एक पीस आप दे सकते हो किस भोग को आपको शमशान कब्रिस्तान बियाबान जंगल खंडहर या जहां आपको लगता हो कि जिन्नात रहते हैं ऐसी जगह पर रोज रख देने होंगे और बोलना होगा अगर आप परी का संकल्प लिए हैं तो परी के लिए और जिन्नात का संकल्प लिए हैं तो जिन्नात के लिए मैं आपके लिए भोग लाया हूं आप इसे स्वीकार करें यह तो सबको सूर्य अस्त के बाद से सूर्य निकलने के पहले देना होगा जो माताएं बहने हैं वह अपने घर की छत पर भी दे सकती हैं आस पड़ोस में खाली प्लॉट है वहां पर दे सकती हूं इत्र की पूरी बोतल देने की आवश्यकता नहीं है एक कॉटन पूर्वी के बाहों में इत्र भिगोकर आप परी के नाम या जिन्नात के नाम कि मैं आपके लिए भोग लाया हूं मैं आपको देखना चाहता हूं इतना सा शब्द बोल कर आपको हाथ रख दे और घर चले आए इस संबंध में कोई जरूरी नहीं कि एक ही जगह पर आप भूख दें आप जगह भी बदल सकते हैं भोग देने की यह पूरी तरह इस्लामी कमल है लेकिन हमारे हिंदू भाई बहन माताएं आसानी से इसको कर सकती हैं इसमें कोई डरने वाली बात नहीं है किसी भी हाल में जब तक आप इस अमल को करें किसी को ना बताएं अगर आपने बता दिया तो यह अमल आपका कामयाब नहीं होगा तीसरा काम आपका यह है की बढ़िया सा कोई इत्र का बोतल लेकर आएं और जब आप रोज 3125 बार पढ़ ले तब उस चित्र के बोतल पर तीन बार फूंक मार दिया करें ढक्कन खोल कर अब इसका पढ़ने का जो टाइम है वह आप जान लें सही टाइम इसका 12:00 बजे से 1:00 के लगभग है जब बिल्कुल तन्हाई में शांत वातावरण में आप बैठ जाएं अगर यह टाइम आपको सोने का होता है तो आप 10:00 से भी कर सकते हैं शर्त यह है कि आप बिल्कुल एकांत और शांत कमरे में हो कम से कम रात्रि 9:00 से लेकर 3:00 के बीच आप सिद्ध कर सकते हैं इसमें आपको हिसार जिस्मानी करना होगा गहरे वाले कार की जरूरत नहीं है घोड़े वाले हिसार की जरूरत पड़ेगी जब आपको जिन्नात को बुलाना होगा इस अमल में आप नशा नहीं कर सकते बाकी किसी परहेज की जरूरत नहीं है सिद्ध करते समय आप पाक साफ हो हाथ में अच्छे से धो लें दिशा आपकी पश्चिम रहेगी मुस्लिम भाई वजू कर ले और दरूद शरीफ मुस्लिम भाई पढ़ ले या जिनको आता है वह भी पढ़ ले 11 बार 21 बार हिंदू भाई इसमें उनके जोइस्ट हैं वह भी दुआ कर ले कि जो अमल जो साधन आप करने उसमें कामयाबी दे साधना करते समय आप अपने शरीर पर अपने कपड़ों पर खूब अच्छा सा इत्र लगा ले ढेर सारा और जिस कमरे में आप साधना कर रहे हैं सिद्ध कर रहे हैं वहां पर अच्छी सी अगरबत्ती जलाते रहें पूरे यकीन के साथ कह सकता हूं किए अमल आपका जाया नहीं जाएगा लेकिन इस अमल को वही लोग करें जो जिन्नात को परी को या अप्सरा को सामने देखने की क्षमता रखते हो मानसिक रूप से और शारीरिक रूप से जवाब तैयार हो तभी यह साधना करें कहीं ऐसा ना हो कि दिल ना तो आपके सामने हाजिर हैं और आप बेहोश हो जाएं हालांकि वह आपको नुकसान नहीं पहुंचाएगा लेकिन फिर भी सुरक्षा की दृष्टि से आप अपने आप को आजमा ले आप जब सिद्धि कर चुके जवाब की जकात अदा हो जाए तो जब आपको जिन्नात को परी को या अक्षरा को देखना हो या बुलाना हो या उनसे आपको छोटे-मोटे काम लेने हैं तब आप आधी रात के वक्त 24:00 मतलब 12:00 से 1:00 के बीच का जो टाइम होता है उस टाइम आप ऐसी जगह पर जाए जहां आपको लगता हो कि हां जिन्नात मौजूद हैं या परी मौजूद हो सकती हैं वहां पर आप खड़े हो जाएं और 621 बार या वादूदू या शुब्बूहू पढ़ ले आपका 621 बार पूरा नहीं होगा उसके पहले ही जिसका अपने संकल्प किया है चाहे वह दिन रात हो या परी हो या अफसर वह आपके सामने आ जाएगी लेकिन जब तक 621 आपका पूरा ना हो जाए आप उनसे बात ना करें जब आपका 621 बार पूरा हो जाए तब आप उनसे बात करें उन से वचन ले ले और पहले दिन तो आप उनसे कोई काम ना लें आप उनसे यही करें कि मैं आपसे दोस्ती करना चाहता हूं और उन्हीं से उनकी हाजिरी का तरीका भी मालूम कर ले वह सारी चीजें आपको बता देंगे आपकी आर्थिक जीवन से जुड़ी हर एक परेशानी को दूर कर देती हैं आप इसे जब भी बुलाना चाहे बस आपको 621 बार किसी सुनसान जगह पर जाकर पढ़ना होगा और शक्ति आपके सामने हाजिर हो जाएगी यह आपके पूरे लाइफटाइम जब भी आप बुलाना चाहेंगे काम करेगी जो ₹1 अपने दम किया है उस इत्र की बोतल को हमेशा पास में रखें और रोजाना कुछ संख्या में इसकी ताकत बनाए रखने के लिए आप इसको पढ़ लिया करें आप सभी इससे लाभ लें अपना जीवन सुखमय बनाएं अगर कोई बात आपकी समझ में नहीं आती है तो कमेंट के माध्यम से आप हमसे पूछ सकते हैं।

नोट///यह लेख केवल जानकारी हेतु दिया जा रहा है इस साधना से होने वाले लाभ या नुकसान के बारे में हमारी वेबसाइट https://maakalitantra.com/ की जिम्मेदार नहीं होगी |

Join WhatsApp GroupClick Here
Join TelegramClick Here

Leave a Comment